चार महीनों में ‘बिग बॉस’ ने ये चार धोखे, जिस पर नहीं गया दर्शको का ध्यान!

0
2764

दोस्तों टीवी जगत के विवादित शो बिग बॉस का सीजन 13 का फिनाले होने वाला है। शो के फिनाले का सभी को बड़ी ही बेसब्री से इंतजार है। शो के फिनाले में क्या कुछ होने वाला है इस बारे में सभी सोच रहे हैं। लेकिन बिग बॉस सीजन 13 की कुछ ऐसी बातें बताएंगे जिसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे। बिग बॉस का यह सीजन चार महीने से भी ज्यादा चला। ऐसे में आज हम आपको शो के दौरान ‘बिग बॉस’ के दिए चार ऐसे धोखो के बारे बता रहे है जो दर्शकों को शो के दौरान दिए। आईये जानते है इनके बारे में!

चार महीनों में 'बिग बॉस' ने ये चार धोखे, जिस पर नहीं गया दर्शको का ध्यान! 1

पहला धोखा अमीषा रहेगी बिग बॉस की मालकिन 

चार महीनों में 'बिग बॉस' ने ये चार धोखे, जिस पर नहीं गया दर्शको का ध्यान! 2

बता दे की बिगबॉस के  शुरुआत में अमीषा पटेल को घर की मालकिन बताया। ‘बिग बॉस’ ने घरवालों से कहा कि अमीषा इस घर की मालकिन हैं और आपको समय-समय पर उनके आदेशों का पालन करना होगा। अमीषा ने शो में आते ही ग्लैमर का तड़का लगाया। साथ ही कंटेस्टेंट्स से ऐसे टास्क करवाए जिसे देखकर दर्शक भी हैरान रह गए। इस टास्क में घरवालों को लग्जरी टास्क पाने के लिए एक दूसरे के मुंह से चीजों को लेकर आगे तक पहुंचाना था। इस टास्क पर खूब बवाल भी हुआ था। हालांकि अमीषा पटेल महज तीन-चार बार ही शो में नजर आईं। यहां तक कि शो में उनका अब नाम तक भी नहीं लिया जाता है। इस तरह से अमीषा पटेल का घर में आना और उनका मालकिन बताकर शो की शुरुआत करना ‘बिग बॉस’ का पहला धोखा है।

दूसरा धोखा देवोलीना  और सिद्धार्थ रूल्स में नज़र

चार महीनों में 'बिग बॉस' ने ये चार धोखे, जिस पर नहीं गया दर्शको का ध्यान! 3
देवोलीना भट्टाचार्य जब तबीयत बिगड़ने की वजह से शो से बाहर गई थीं तो ऐसा कहा जा रहा था कि वह दोबारा घर में आएंगी। शो से बाहर जाने के बाद वह अपने घर पर ही रही थीं। उन्हें वो सारी चीजों की इजाजत थी जो शो के नियमों के मुताबिक कंटेस्टेंट को नहीं करनी होती हैं। जैसे- टीवी, फोन और सोशल मीडिया का इस्तेमाल करना। देवोलीना के जाते ही शो में विकास गुप्ता की एंट्री हुई। विकास के आते ही कहा गया कि वह उनकी जगह कुछ दिनों के लिए खेल खेलने आए हैं। बाद में ‘बिग बॉस’ ने बताया देवोलीना शो का हिस्सा नहीं हैं क्योंकि उनकी तबीयत ठीक नहीं हुई है। देवोलीना के बाद सिद्धार्थ शुक्ला भी तबीयत बिगड़ने की वजह से शो से बाहर गए थे। सिद्धार्थ जब अस्पताल में भर्ती थे तो उन्हें टीवी, सोशल मीडिया यहां तक कि अपने परिवार से मिलने भी नहीं दिया गया। इस बात को सिद्धार्थ ने भी सलमान से वीडियो कॉल के जरिए कबूल किया था। ऐसे में इतना तो साफ है कि देवोलीना और सिद्धार्थ के लिए नियमों में बदलाव किया गया। ये बात इस ओर भी इशारा करती है कि सिद्धार्थ की शो में वापसी तय थी जबकि देवोलीना की शो में नहीं आना पहले से ही तय था। जो कि शो का दर्शकों को दिया गया दूसरा धोखा है।

तीसरा धोखा

चार महीनों में 'बिग बॉस' ने ये चार धोखे, जिस पर नहीं गया दर्शको का ध्यान! 4
बॉलीवुड अभिनेत्री मल्लिका शेरावत जब घर में आई थीं तो उन्होंने कुछ घरवालों को टास्क दिए थे। उस वक्त घर के कैप्टन आसिम रियाज थे। इस टास्क में दाेवेदारों को साबित करना था जिसे आरती ने जीता था। आरती को मल्लिका ने पांच कार्ड दिए। ये पास अपोजिंग कैप्टन के थे। इस टास्क के बाद आरती घर की पहली अपोजिंग कैप्टन बन गई थीं। इन पांच कार्ड का इस्तेमाल आरती कैप्टन आसिम का फैसला पलटने के लिए इस्तेमाल कर सकती थीं। इस टास्क के बाद उन कार्ड का आरती ने एक बार भी इस्तेमाल नहीं किया। न ही उसका शो में घरवालों, सलमान और ‘बिग बॉस’ ने जिक्र किया। इस तरह से ‘बिग बॉस’ का यह तीसरा धोखा है जो उन्होंने शो में दर्शकों को दिया।

चौथा धोखा 

चार महीनों में 'बिग बॉस' ने ये चार धोखे, जिस पर नहीं गया दर्शको का ध्यान! 5
बता दे की दीपिका पादुकोण शो में ‘छपाक’ फिल्म का प्रमोशन करने गई थी। उन्होंने घरवालों को दो टीमों में बांटा था। साथ ही एक दूसरे की एक्टिंग करने को कहा। जो शो में घटित हुआ था, जिन्हें दर्शकों ने काफी पसंद किया। जैसे-रश्मि का सिद्धार्थ पर चाय फेंकना इत्यादि। घरवालों ने शो में ऐसा दिखाया कि उन्हें यह टास्क तुरंत दिए गए। हालांकि अनसीन वीडियो में इसका खुलासा हुआ कि घरवालों को ये टास्क पहले से ही पता थे। वो अनसीन वीडियो में इनकी प्रैक्टिस करते हुए दिखाई दिए थे। इस तरह से ये ‘बिग बॉस’ का चौथा धोखा है।