शोध में हुआ बड़ा खुलासा, तीन तरह का होता है कोरोना वायरस, सबसे खतरनाक टाइप A ने अमेरिका में मचाया है तांडव!

0
636

दोस्तों कोरोना वायरस ने दुनिया के 210 देशों में पहुंच चुका है। पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के 15 लाख से भी ज्यादा लोग संक्रमित हो छुए है और 1 लाख से ज्यादा लोग अपनी जान गवा चुके है। बता दे की इटली के बाद अमेरिका में कोरोना वायरस के कारण सबसे ज्यादा मौतें हुई हैं। ऐसे में यह सवाल उठता है जो कि जो देश सबसे शक्तिशाली है, जिसके यहां स्वास्थ्य सेवाएं अन्य के मुकाबले बेहतर हैं, वहां इतनी मौतें कैसे हो रही हैं। इसका जवाब अब मिल गया है।

शोध में हुआ बड़ा खुलासा, तीन तरह का होता है कोरोना वायरस, सबसे खतरनाक टाइप A ने अमेरिका में मचाया है तांडव! 9

साल की शुरुआत में चीन के वुहान शहर से दुनिया में फैलने वाला यह वायरस अब भी वैज्ञानिकों के लिए पहेली बना हुआ है। कैंब्रिज यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने अब इसके विभिन्न प्रकार ढूंढे हैं। उन्होंने यह भी पता लगाया है कि कौन सा प्रकार कहां फैल रहा है। एक नई रिसर्च में दावा किया गया है कि कोरोना वायरस एक नहीं, बल्कि तीन तरह के होते हैं जिनमें टाइप-ए, टाइप-बी और टाइप-सी शामिल हैं। इनमें से टाइप-ए सबसे ज्यादा खतरनाक है। बता दें कि अमेरिका में कोरोना वायरस का टाइप-ए ही तबाही मचा रहा है। कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी की एक स्टडी में कोरोना के तीन टाइप होने की बात कही है।

कोरोना टाइप-ए

शोध में हुआ बड़ा खुलासा, तीन तरह का होता है कोरोना वायरस, सबसे खतरनाक टाइप A ने अमेरिका में मचाया है तांडव! 10

पहले प्रकार को टाइप ए स्ट्रेंस कहा गया जो पहले पेंगोलिन से चमगादड़ में और उनसे इंसानों में आया। यही कोरोना वायरस का मूल रूप कहा गया है। वास्तव में यह वह रूप नहीं है जो दुनिया और चीन में फैला कोरोना का टाइप-ए सबसे खतरनाक है और वुहान के बाद यह अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया में तबाही मचा रहा है। टाइप-ए की वजह से ही अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया में करीब 4,00,000 लोगों में संक्रमण फैला है। अमेरिका में दो-तिहाई संक्रमण टाइप-ए  के शिकार हुए है।

कोरोना टाइप-बी

शोध में हुआ बड़ा खुलासा, तीन तरह का होता है कोरोना वायरस, सबसे खतरनाक टाइप A ने अमेरिका में मचाया है तांडव! 11

माना जा रहा है कि यह टाइप-ए से पैदा हुआ है और वुहान में इसने ही तबाही मचाई थी। इस शोध में पीटर फेर्सटर और उनकी टीम ने पाया कि ब्रिटेन में टाइप बी का कहर छाया था। चीन में यही टाइप बी फैला था। यहां दो तिहाई  से ज्यादा ऐसे मामले पाए गए। स्विट्जरलैंड, जर्मनी फ्रांस, बेल्जियम और नीदरलैंड में भी टाइप बी की बहुलता पाई गई।

कोरोना टाइप-सी

शोध में हुआ बड़ा खुलासा, तीन तरह का होता है कोरोना वायरस, सबसे खतरनाक टाइप A ने अमेरिका में मचाया है तांडव! 12

वायरस के तीसरे टाइप को टाइप बी की बेटी कहा जा रहा है। सिंगापुर और यूरोप में टाइप-सी फैला है। वैज्ञानिकों का मानना है कोरोना वायरस  जिसे सार्स कोव-2 कहा जाता है, लगातार बदल रहा है म्यूटेट हो रहा है और बार बार मनुष्यों के इम्यून सिस्टम पर हावी होने में कामयाब रहा है। वहीं पहले के आंकड़ों के आधार पर कहा गया था कि यूरोप में टाइप सी ज्यादा फैला था। लेकिन ताजा आंकड़ों के आधार पर किया गया अध्ययन कहता है कि टाइप बी यूरोप ज्यादा व्यापक है।