टिक-टॉक वीडियो बनाने के चक्कर में युवक ने गवाई जान, बिजली के खंभे पर दो घंटे लटका रहा शव!

0
40

दोस्तों देश में महामारी कोरोना के चलते लॉकडाउन किया गया है ताकि लोगो को इस महामारी से बचाया जा सके लेकिन कुछ लोग इस लॉकडाउन का पालन भी नहीं कर रहे है और अपनी जिंदगी  खेल रहे है। हाल ही में खबर सामने आई है की एक युवक टिक-टॉक वीडियो बनाने के चक्कर अपनी जान गवा बैठा है।

टिक-टॉक वीडियो बनाने के चक्कर में युवक ने गवाई जान, बिजली के खंभे पर दो घंटे लटका रहा शव! 7

खबरों की माने तो मतलौडा में आईटीआई के पीछे रेलवे के बिजली के खंभे पर टिक-टॉक वीडियो बनाने चढ़ा युवक हाईवोल्टेज तार की चपेट में आ गया। हादसे के बाद दोस्त छोड़कर भाग गए। दो घंटे तक डेड बॉडी तार पर ही लटकी रही। युवक के पिता की पहले मौत हो चुकी है। बड़ा भाई जेल में है। अब छोटा भाई ही मां का सहारा था। राहगीरों की सूचना पर मौके पर पहुंची जीआरपी ने लाइन कटवाकर शव को खंभे से उतारकर सिविल अस्पताल में भिजवाया, पुलिस ने मृतक के मोबाइल को अपने कब्जे में ले लिया है। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

टिक-टॉक वीडियो बनाने के चक्कर में युवक ने गवाई जान, बिजली के खंभे पर दो घंटे लटका रहा शव! 8

लाइन बंद करने के बाद करीब 6 बजे शव को नीचे उतारा गया। इसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल ले गए। गांव धर्मगढ़ निवासी 25 वर्षीय विकास उर्फ विक्की अपने दोस्तों के साथ मतलौडा में आईटीआई के पीछे करीब 4 बजे अपने तीन दोस्तों के साथ टिक-टॉक पर वीडियो बना रहा था। विकास रेलवे लाइन के नजदीक रेलवे की बिजली सप्लाई वाले खंभे पर चढ़ गया। अच्छा वीडियो बनाने के चक्कर में वह और ऊंचाई पर चढ़ गया।  हाई वोल्टेज की लाइन ने उसे करीब पांच फीट की दूरी से अपनी ओर खींच लिया। जिसके कारण वह झुलस गया। दोस्त हादसे के बाद फरार हो गए। किसी राहगीर ने मामले की जानकारी मतलौडा पुलिस को दी।

टिक-टॉक वीडियो बनाने के चक्कर में युवक ने गवाई जान, बिजली के खंभे पर दो घंटे लटका रहा शव! 9

मृतक विकास के पिता और चाचा का पहले देहांत हो गया था। वहीं, एक बड़ा भाई ट्रक ड्राइवर था जो जेल में है। वह अपनी माता के साथ ही गांव में रहता था। उसके चचेरे भाई भूपेंद्र ने बताया कि विकास 12वीं के बाद सेना में भर्ती की तैयारी कर रहा था। जीआरपी के एसएसई सूरज मीणा ने बताया कि इस इलेक्ट्रिक लाइन में 25 हजार वोल्ट करंट होता है। इस लाइन के बंद करने के बाद भी इसमें 11 हजार वोल्ट करंट होता है। इस लाइन को अर्थ करने के बाद करंट पूरी तरह से समाप्त होता है। यह लाइन रिमोट से दिल्ली से बंद होती है।