बॉबी के लिये नहीं मिला था ऋषि को अवार्ड, 30000 में अवार्ड खरीदा था, खुद ऋषि कपूर ने किया था खुलासा!

0
23

दोस्तों बॉलीवुड के जाने माने अभिनेता ऋषि कपूर का गुरुवार 30 अप्रैल को कैंसर के चलते निधन हो गया। उन्होंने मुंबई के एक अस्पताल में अंतिम सांस ली। एक्टर लंबे समय से कैंसर से लड़ रहे थे लेकिन कैंसर से जंग हार गए, गुरुवार को   शाम को मुंबई में उनका अंतिम संस्कार कर दिया। बता दे की उनके निधन की खबर अमिताभ बच्चन ने ट्वीट कर दी थी, बिग बी और ऋषि कपूर बहुत अच्छे दोस्त थे लेकिन एक समय ऐसा भी था जब उन्होंने अमिताभ बच्चन के हाथों में जानेवाली बेस्ट एक्टर की ट्रॉफी को पैसे के दम पर छीन लिया था।

बॉबी के लिये नहीं मिला था ऋषि को अवार्ड,  30000 में अवार्ड खरीदा था, खुद ऋषि कपूर ने किया था खुलासा! 9

उनसे किसी पीआर एजेन्सी ने कहा कि वे अगर 30 हजार खर्च करें तो उन्हें बॉबी फिल्म के लिये बेस्ट एक्टर का अवार्ड मिल सकता है और उन्होंने पैसे खर्च दिये। उस साल अमिताभ बच्चन की जंजीर भी रिलीज हुई थी और उन्हें ही क्या पूरी इंडस्ट्री को उम्मीद थी कि ये अवार्ड अमिताभ को ही मिलेगा। लेकिन सबके उम्मीदों पर पानी फिर गया और ऋषि बेस्ट एक्टर का अवार्ड ले उड़े।

बॉबी के लिये नहीं मिला था ऋषि को अवार्ड,  30000 में अवार्ड खरीदा था, खुद ऋषि कपूर ने किया था खुलासा! 10

आपको बता दे की ऋषि कपूर ने अपनी ऑटोबायोग्राफी ‘खुल्लम खुल्ला – ऋषि कपूर अनसेंसर्ड’ में इसका जिक्र किया है। ऋषि ने ‘खुल्लम खुल्ला’ में लिखा है – ऐसा लगता है कि ‘बॉबी’ के लिए मुझे बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड मिलने से अमिताभ निराश हो गये थे। उन्हें लगा था कि ये अवॉर्ड ‘जंजीर’ के लिए जरूर मिलेगा। दोनों ही फिल्में एक ही साल (1973) में रिलीज हुई थीं। मुझे ये कहते हुए शर्म आती है कि मैंने वह अवॉर्ड खरीदा था। दरअसल उस वक्त मैं भोला-भाला था। तारकनाथ गांधी नामक एक पीआरओ ने मुझसे कहा, सर 30 हजार दे दो, तो मैं आपको अवॉर्ड दिलवा दूंगा। मैंने बिना कुछ सोचे उन्हें पैसे दे दिये। मेरे सेक्रेटरी घनश्याम ने भी कहा था, सर, पैसे दे देते हैं। मिल जायेगा अवॉर्ड। इसमें क्या है। अमिताभ को बाद में किसी से पता चला कि मैंने अवॉर्ड के लिए पैसे दिये थे। मैं बस इतना कहना चाहता हूं कि 1974 में मैं महज 22 साल का था। पैसा कहां खर्च करना है, कहां नहीं, इसकी बहुत समझ नहीं थी। बाद में मुझे अपनी गलती का अहसास हुआ।

बॉबी के लिये नहीं मिला था ऋषि को अवार्ड,  30000 में अवार्ड खरीदा था, खुद ऋषि कपूर ने किया था खुलासा! 11

ऋषि कपूर ने अपनी ऑटोबायोग्राफी अमिताभ बच्चन और उनके रिश्ते को लेकर भी कई चौंकानेवाले खुलासे किये हैं। ऋषि ने अपनी ऑटोबायोग्राफी में लिखा है – अमिताभ बच्चन एक महान एक्टर हैं। 1970 की शुरुआत में उन्होंने फिल्मों का ट्रेन्ड ही बदल दिया। एक्शन की शुरुआत ही उन्हीं से होती है। उस वक्त उन्होंने कई एक्टर्स को बेकार कर दिया। मेरी फिल्मों में एंट्री 21 साल की उम्र में हुई। उन दिनों अमिताभ और मेरे बीच एक अनकहा तनाव रहा करता था। हमने कभी उसे सुलझाने की कोशिश नहीं की लेकिन वह तनाव अपने आप खत्म भी हो गया।

बॉबी के लिये नहीं मिला था ऋषि को अवार्ड,  30000 में अवार्ड खरीदा था, खुद ऋषि कपूर ने किया था खुलासा! 12

उन्होंने लिखा है – जीतेंद्र से तो मेरे रिलेशन अच्छे थे, लेकिन अमिताभ और मेरे संबंधों में तल्खी थी। मैं उनके साथ अनकम्फर्टेबल महसूस करता था। वे मुझसे 10 साल बड़े थे, लेकिन मैं उन्हें अमितजी की जगह अमिताभ ही बुलाता था। शायद मैं बेवकूफ था। ‘कभी-कभी’ की शूटिंग के वक्त तो न मैं उनसे बात करता था और न ही वे। कभी-कभी के दौरान रिलेशन में गर्मजोशी न होने की एक और कहानी है। अमिताभ फिल्म में सीरियस रोल में थे। जबकि मेरा रोल थोड़ा उलट था। फिल्म में मैं खिलंदड़ा किस्म का हूं। अमिताभ रोल में गंभीरता बनाये रखने के लिये सेट पर अलग-थलग रहते थे। शायद सच तो ये है कि मैंने अवॉर्ड खरीदा था, सबने ये जान लिया था। हालांकि, बाद में सब ठीक हो गया और हमारे रिश्ते बेहद अच्छे हो गये। अब तो उनसे फैमिली रिलेशनशिप है। उनकी बेटी श्वेता की शादी मेरी बहन रितु नंदा के बेटे निखिल से हुई है।