वृद्धाश्रम में रहने को मजबूर हैं ‘महाभारत’ के ‘देवराज इंद्र’ सतीश कौल, एक समय में थे करोडो की सम्पति के मालिक!

0
38

दोस्तों पंजाबी फिल्मों का अमिताभ बच्चन कहे जाने वाले अभिनेता सतीश कौल करोडो के मालिक होने के बाद अपने अंतिम समय में बहुत बुरे स्थिति में गुजारने को मजबूर है। वही सतीश कौल, जो किसी जमाने में करोड़पति थे और बड़े-बड़े निर्माता-निर्देशक उनके साथ काम करने का सपना देखते थे। क्या आप जानते हैं कि उन्हीं सतीश कौल ने बी.आर. चोपड़ा के ‘महाभारत’ सीरियल में भी काम किया था।

वृद्धाश्रम में रहने को मजबूर हैं 'महाभारत' के 'देवराज इंद्र' सतीश कौल, एक समय में थे करोडो की सम्पति के मालिक! 13

वृद्धाश्रम में रहने को मजबूर हैं 'महाभारत' के 'देवराज इंद्र' सतीश कौल, एक समय में थे करोडो की सम्पति के मालिक! 14

80 के दशक में प्रसारित इस सीरियल में अभिनेता सतीश कौल ने ‘देवराज इंद्र’ की भूमिका निभाई थी। हालांकि इन दिनों वे काफी बुरे दौर से गुजर रहे हैं। सतीश कौल ने अपने ऐक्टिंग करियर की शुरुआत पंजाबी फिल्मों से की थी। साल 1979 में उनका करियर शुरू हुआ और एक के बाद एक जबरदस्त पंजाबी हिट फिल्में दीं। पंजाबी सिनेमा में ही काम करते-करते उनकी एंट्री बॉलिवुड में हुई और ‘कर्मा’, ‘आंटी नंबर वन’, ‘प्यार तो होना ही था’, ‘प्यार का मंदिर’, ‘खूनी महल’ जैसी कई फिल्मों में काम किया। सतीश कौल ने 300 से ज्यादा हिंदी और पंजाबी फिल्मों में काम किया था।

वृद्धाश्रम में रहने को मजबूर हैं 'महाभारत' के 'देवराज इंद्र' सतीश कौल, एक समय में थे करोडो की सम्पति के मालिक! 15

वृद्धाश्रम में रहने को मजबूर हैं 'महाभारत' के 'देवराज इंद्र' सतीश कौल, एक समय में थे करोडो की सम्पति के मालिक! 16

पंजाबी और हिंदी सिनेमा में धाक जमाने के साथ-साथ सतीश कौल ने टीवी की दुनिया में चमक बिखेरी। उन्होंने बी.आर. चोपड़ा के हिट सीरियल ‘महाभारत’ में इंद्र देव का किरदार निभाया था। वही इंद्र जिन्होंने एक ब्राह्मण का रूप धारण करके दानवीर कर्ण से उसका कवच और कुंडल मांग लिए थे। इंद्र देव के किरदार में सतीश कौल को काफी पसंद किया गया। सतीश कौल ‘महाभारत’ में काम करने से पहले ही पंजाबी सिनेमा पर राज कर रहे थे। लेकिन बताया जाता है कि वहां 80 के दशक में फैले आतंकवाद के साए के कारण सतीश कौल का करियर गर्त में जाने लगा। एक न्यूज पोर्टल को सालों पहले दिए इंटरव्यू में सतीश कौल ने इसका जिक्र किया था और बताया कि इसी वजह से उन्होंने टीवी का रुख किया।

वृद्धाश्रम में रहने को मजबूर हैं 'महाभारत' के 'देवराज इंद्र' सतीश कौल, एक समय में थे करोडो की सम्पति के मालिक! 17

सतीश कौल ने रामानंद सागर के सीरियल ‘विक्रम और बेताल’ में भी काम किया। इसमें वह युवराज आनंदसेन, प्रिंस अजय, मधुसूदन, वैद्य, सत्वशील, राजकुमार वज्रमुक्ति, सेनापति और सूर्यमल जैसे दर्जनों किरदारों में दिखे। सतीश कौल ने लुधियाना में अपना एक ऐक्टिंग स्कूल भी खोला था। बताया जाता है कि उनका वह ऐक्टिंग स्कूल फ्लॉप हो गया और उसमें लगे सारे पैसे भी डूब गए। जो ऐक्टर कभी करोड़ों में खेलता था, उसके पास इतने पैसे भी नहीं बचे कि खर्च चला पाता। कहा जाता है कि इसी चक्कर में सतीश कौल की बीवी और बेटा भी उन्हें छोड़कर अमेरिका जाकर बस गए।

वृद्धाश्रम में रहने को मजबूर हैं 'महाभारत' के 'देवराज इंद्र' सतीश कौल, एक समय में थे करोडो की सम्पति के मालिक! 18

इंटरनेट पर मौजूद जानकारी के मुताबिक, सतीश कौल अब लुधियाना के विवेकानंद वृद्धाश्रम में रह रहे हैं। उनके पास न तो खाने-पीने के पैसे हैं औ न ही दवाइयों का खर्च उठाने के।इससे पहले वह लुधियाना के एक हॉस्पिटल में भर्ती थे, जहां वह अपने बिल तक भर पाने में असमर्थ थे। दुख की बात है कि कभी शोबिज में चमकने वाला सितारा आज इस तरह की जिंदगी जीने को मजबूर हैं। किसी जमाने में सतीश कौल करोड़पति थे और आज उनकी हालत एकदम दयनीय है।