फैन ने याद दिलाया सोनू सूद को सालो पुराना किस्सा, जब सोनू ने अपनी मोटरसाइकिल बेच की थी दोस्त की मदद!

0
12

दोस्तों बॉलीवुड के पॉपुलर विलेन अभिनेता सोनू सूद इन दिनों सुर्खियों में बने हुए हैं। सोनू ने लॉकडाउन की वजह से परेशांन प्रवासी मजदूरों की मदद को रात दिन लगे हुए है। सोनू के इन्हीं नेक कामों ने सोशल मीडिया पर जबरदस्त सुर्खियां बटोरी हैं। उन्होंने लोगों के दिल जीत लिए हैं और सोन सूद के फैन सोशल मीडिया पर उनकी तारीफें करते नहीं थक रहे हैं। इसी बीच उनके एक फैन ने पुराना किस्सा बताकर खुद सोनू को ही हैरान कर दिया।

फैन ने याद दिलाया सोनू सूद को सालो पुराना किस्सा, जब सोनू ने अपनी मोटरसाइकिल बेच की थी दोस्त की मदद! 7

बता दे की उस किस्से में भी सोनू सूद ने एक दोस्त की मदद के लिए अपनी मोटरसाइकिल तक गिरवी दी थी। प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए सोनू सूद द्वारा किए गए प्रयासों को सोशल मीडिया पर जबरदस्त चर्चाएं मिल रही हैं। इन्हीं चर्चाओं के बीच एक फैन ने ट्वीट के जरिए बताया कि वो हमेशा से कितने उदार रहे हैं। इस फैन के मुताबिक सोनू दोस्ती निभाने के लिए अपनी मोटरसाइकिल तक बेचने के लिए तैयार थे।

फैन ने याद दिलाया सोनू सूद को सालो पुराना किस्सा, जब सोनू ने अपनी मोटरसाइकिल बेच की थी दोस्त की मदद! 8

बता दे की सोनू के एक फैन ने उन्हें टैग करते हुए ट्विटर पर लिखा- ‘सर, मैं आपको 1994 से जनता हूं। उस समय भी आप अपने दोस्त के मदद के लिए मोटरसाइकल गिरवी रखने के लिए रेडी रहते थे और आज भी उसी जज़्बे से लोगों की मदद कर रहे हैं। बहुत अच्छा काम कर रहे हैं। बाबा से आपके बारे में बात होती रहती है’।

फैन ने याद दिलाया सोनू सूद को सालो पुराना किस्सा, जब सोनू ने अपनी मोटरसाइकिल बेच की थी दोस्त की मदद! 9

वहीं इस फैन का ट्वीट देखते ही सोनू ने इसे अपने ऑफिशियल एकाउंट पर शेयर किया है। उन्होंने इस पुराने किस्से को याद करते हुए पोस्ट शेयर करते हुए लिखा- ‘आपकी याद्दाश्त काफी अच्छी है’। सोनू के इस ट्वीट पर उन्हें खूब तारीफें मिल रही हैं। वही सोनू ने अपने ट्विटर के जरिए कुछ प्रवासी मजदूरों के धन्यवाद का जवाब भी दिया है। सोनू द्वारा किए गए बस के इंतजाम के बाद उसमें सवार एक व्यक्ति ने उन्हें टैग करते हुए ट्विटर पर लिखा था- ‘सर हम लोग अच्छे से निकल चुके हैं, आप बेफिक्र रहिए, मैं आपको अपडेट करता रहूंगा, आपको प्यार भइया’। इस पर सोनू ने लिखा- ‘विश यू अ हैप्पी जर्नी भाई, बोला था ना कल मां के हाथ का खाना खाओगे। बिहार पहुंच कर सबको सलाम कहना’।