मुंबई से बिहार पुलिस लौटी पटना , अधिकारी बोले- मुंबई में काम करना था मुश्किल लेकिन हमारी जांच सीबीआई के लिए होगी अहम!

0
10

दोस्तों बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस की जांच करने मुंबई गई बिहार पुलिस के 4 अफसरों की टीम बुधवार को पटना लौट आई। उन्होंने एयरपोर्ट पर कहा कि वहां काम करना बहुत मुश्किल था। सीनियर ऑफिसर्स का पूरा सपोर्ट मिला, जिससे हम काम कर पाए। हमारी जांच में जो जानकारी सामने आई है वह सीबीआई के लिए अहम साबित होगी।

मुंबई से बिहार पुलिस लौटी पटना , अधिकारी बोले- मुंबई में काम करना था मुश्किल लेकिन हमारी जांच सीबीआई  के लिए होगी अहम! 7

बता दे की पटना के राजीव नगर थाना में सुशांत के पिता केके सिंह ने केस दर्ज कराया था। इसके बाद पटना पुलिस के 4 अधिकारी जांच के लिए मुंबई गए थे। बाद में एसपी विनय तिवारी को भेजा गया। उन्हें बीएमसी ने क्वारैंटाइन किया है। इस घटना के बाद पटना पुलिस की टीम मुंबई में छिपकर 4 दिन से जांच कर रही थी। सुशांत सुसाइड केस की जांच की जिम्मेदारी सीबीआई को दी गई है।

मुंबई से बिहार पुलिस लौटी पटना , अधिकारी बोले- मुंबई में काम करना था मुश्किल लेकिन हमारी जांच सीबीआई  के लिए होगी अहम! 8

मुंबई गई इस टीम में पुलिस अधिकारी कैसर, मनोरंजन भारती, निशांत और दुर्गेश शामिल थे। उन्होंने कहा कि मामला सीबीआई के पास है इसलिए जांच के बारे में ज्यादा बताना संभव नहीं है। जितना हो सकता था, हमने जांच की है। एसपी को जबरन क्वारैंटाइन किए जाने के बाद कैसे खुद को बचाया? इस सवाल पर अधिकारी ने कहा कि पुलिस ट्रेनिंग में यह सिखाया जाता है। सीनियर का आदेश मिला, जिसके बाद पटना लौटे हैं।

मुंबई से बिहार पुलिस लौटी पटना , अधिकारी बोले- मुंबई में काम करना था मुश्किल लेकिन हमारी जांच सीबीआई  के लिए होगी अहम! 9

अब पुलिस अधिकारी एसएसपी उपेंद्र शर्मा और आईजी संजय सिंह से मिलेंगे। वे मुंबई में अब तक की गई जांच की रिपोर्ट देंगे। इसके बाद एसएसपी और आईजी पुलिस मुख्यालय जाकर डीजीपी से मिलेंगे। पटना पुलिस मुंबई में की गई जांच की रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट को सौंपेगी। बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने तीन दिन में बिहार सरकार को रिपोर्ट देने का आदेश दिया था। बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद भी एसपी विनय तिवारी को क्वारैंटाइन से बाहर नहीं कर रही है। उन्हें हाउस अरेस्ट की तरह रखा गया है। हम आज एडवोकेट जनरल से सलाह के बाद तय करेंगे कि इस मामले में क्या कार्रवाई की जाए। इस मामले में हम कोर्ट भी जा सकते हैं।