एयरस्ट्राइक पर बोले वायुसेना प्रमुख- हमने टारगेट हिट किया, कितने मारे गए, ये गिनना हमारा काम नहीं!

0
116

पाकिस्तान खौफ में है, जैश-ए-मोहम्मद से लेकर लश्कर-ए-तैयबा तक में खलबली मची हुई हैं, 26 फरवरी को भारत ने पाकिस्तान की सरजमीं से संचालित आतंकवाद को हिंदुस्तानी वायुसेना ने तबाह कर दिया था। पाकिस्तान को जो भाषा समझ आती है हिंदुस्तान अब उसी भाषा में जवाब दे रहा है और तब तक देगा जब तक पाकिस्तान सुधर नहीं जाता।आतंकी जहां भी छिपे होंगे हिंदुस्तानी सेना घुसकर मारेगी। एयर स्ट्राइक का ये सिलसिला यूं ही चलता रहेगा। 

दरअसल आज एयर चीफ मार्शल बीएस धनोवा ने मीडिया के सामने उन सारे सवालों के जवाब दिए, जिन्होंने पिछले कुछ दिनों से देश की सियासत को गर्म कर रखा था। एयर स्ट्राइक के सबूत और आतंकियों की मौत के आंकड़े हर वो जवाब जो देश की जनता के लिए जानना जरूरी था। एयर चीफ मार्शल बीएस धनोवा ने मीडिया से कहा की हमने टारगेट पूरा किया। कितने मरे ये गिनना हमारा काम नहीं। साथ उन्होंने कहा की अगर जंगल में हमला किया होता तो पाकिस्तान पलटवार नहीं करता। और आगे कहा की हमने मिग के एडवांस वर्जन से पाकिस्तान के एफ 16 गिराया।

वाय़ु सेना की तरफ से जवाब दे दिया गया है कि उन्होंने अपना टारगेट पूरा किया और लाशें गिनना उनका काम नहीं है, मगर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने जब से बताया है कि 250 आतंकी एयरस्ट्राइक में मारे गए, तब से सियासी बवाल मचा हुआ है। ये तो पका है की आतंक के अड्डे तहस नहस हुए थे। लेकिन ये तय नहीं था कि कुल कितने आतंकियों को मिट्टी में मिलाया गया। आतंकियों की मौत का आंकड़ा कितना था। ये किसी ने नहीं बताया।

 लेकिन अहमदाबाद की चुनावी रैली में बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह ने आतंकियों की मौत का आंकड़ा भी बता दिया। कांग्रेस नेता मनीष तिवारी का कहना है कि अमित शाह के पास आतंकियों की मौत के आंकड़े कहां से आए,  इतना ही नहीं कांग्रेस नेता और पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने भी अपने अंदाज में बीजेपी पर निशाना साधा। सिद्धू ने ट्वीट किया, ‘तीन सौ आतंकी मरे, हां या नहीं? फिर मकसद क्या था? आतंकी मारने गए थे या पेड़ उखाड़ने. क्या ये चुनावी स्टंट था? ऊंची दुकान फीका पकवान।

कांग्रेस बीजेपी पर आरोप लगा रही है कि वो एयरस्ट्राइक पर राजनीति कर रही है, लेकिन यही आरोप बीजेपी कांग्रेस पर भी लगा रही है। इस पूरी राजनीति के बीच आज वायुसेना प्रमुख बीएस धानोआ सामने आए और उन्होंने साफ लफ्ज़ों में कहा- हमने अपना टारगेट पूरा किया, शव गिनना हमारा काम नहीं है। वायु सेना चीफ का ये बयान उस सियासत के खिलाफ है जो सवालों की शक्ल में देश पर छाई हुई है।