मशहूर थी आरके स्टूडियो की होली पार्टी, इस वजह से देव आनंद कभी भी राज कपूर की होली पार्टी का हिस्सा नही बने!

0
65

दोस्तों बॉलीवुड फिल्म जगत को कपूर खानदान ने कई बड़े बड़े अभिनेता और अभिनेत्रिया दी है जिन्होंने अपने अभिनय से लाखो लोगो के दिलो पर कई सालो तक राज किया और आज भी लोगो उनको भूले नही है। उन्ही में से एक थे राज कपूर साहब जिन्होंने अपने समय में कई सुपर हिट फिल्मे की जो लोगो को आज भी पंसद है।

राज कपूर को बॉलीवुड का शोमैन यूं ही नहीं कहा जाता था। उनका हर काम शानदार होता था। फ़िल्में तो भव्य बनाते ही थे, उनकी पार्टियां भी कम शानदार नहीं हुआ करती थीं। होली और दीपावली पर राज कपूर के जश्न को लोग आज याद करते हैं। आरके स्टूडियो की होली का तो कोई जवाब ही नही हुआ करता था। बॉलीवुड का हर ख़ास और आम उस पार्टी में जरूर शामिल हुआ करता था दिलीप कुमार, मनोज कुमार, शम्मी कपूर, शशि कपूर, अमिताभ बच्चन, शत्रुघ्न सिन्हा, जितेंद्र, धर्मेंद्र हेमा मालिनी जैसी हस्तियां आरके स्टूडियो की हर पार्टी में नजर आती थीं।

बॉलीवुड सितारों की तमाम यादें राज कपूर की होली पार्टी से जुड़ी हैं। राज कपूर से पहले बॉलीवुड में इस तरह भव्य तरीके से होली सेलिब्रेट करने की परंपरा नहीं थी।लेकिन राज कपूर ने फ़िल्मी सितारों की होली पार्टी शुरू की, जो आगे चलकर सबसे लाजवाब पार्टी साबित हुई। आरके स्टूडियो में ऐसी पार्टी होती थी की सितारों को होली के त्यौहार का बेसब्री से इंतजार रहता था। आरके स्टूडियो में रंग खेलने के ख़ास इंतजाम किए जाते थे। नाच गाने का प्रबंध भी होता था। मेहमानों को तरह तरह के व्यंजन भी परोसे जाते थे। आरके स्टूडियो की होली पार्टी में दिनभर फ़िल्मी सितारे रंगपर्व का जश्न मनाते थे।

बता दे की आरके स्टूडियो में राज कपूर की पार्टी में बॉलीवुड का हर छोटा बड़ा सितारा आमंत्रित होता था। लेकिन सदाबहार अभिनेता देव आनंद उस पार्टी में शामिल नहीं होते थे। देव आनंद  उस दौर के इकलौते बड़े स्टार थे। साथ ही देव आनंद और राज कपूर के बीच किसी तरह का मनमुटाव नहीं था। लेकिन फिर भी वे इस पार्टी का हिस्सा नही होते थे।

खबरों की माने तो अभिनेता देवआनंद को शुरू से ही होली खेलने पसंद नही था। वे हमेशा इस त्यौहार से बचते नज़र आते थे। राजकपूर को देव आनंद की ये बात पता थी। इसलिए उन्होंने कभी देव आनंद को आरके स्टूडियो की होली पार्टी में आमंत्रित नहीं किया। बता दे की साल 1988 तक आरके स्टूडियो में हर साल होली खेली गई। लेकिन राजकपूर के देहांत के बाद आरके स्टूडियो की होली की पार्टी होना बंद हो गई।