Breaking News
Home / Hindi / पॉपुलर होने के बाद भी बड़ी फ्लॉप साबित हुईं ये खुबसूरत बॉलीवुड अभिनेत्रिया, तस्वीरे देख नही होगा यकीन!

पॉपुलर होने के बाद भी बड़ी फ्लॉप साबित हुईं ये खुबसूरत बॉलीवुड अभिनेत्रिया, तस्वीरे देख नही होगा यकीन!



बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री में एक एक्ट्रेस का करियर ,एक्टर से छोटा माना जाता है। लेकिन कुछ ऐसी एक्ट्रेस होती हैं जो फिल्म इंडस्ट्री में काफी समय तक टिक पाती हैं। इसके अलावा  कुछ ऐसी भी हैं जो एक या दो फिल्मों के बाद कही खो सी जाती है। आप आज बॉलीवुड की कुछ ऐसी ही अभिनेत्रियों के बारे में बताने जा रहे है, जो खूबसूरत होने के बाद भी फिल्म इंडस्ट्री में स्थापित नही हो सकी।

सहाना गोस्वामी :- सहाना गोस्वामी का 6 मई 1986 को नई दिल्ली में हुआ था।। वह बचपन से ही एक्ट्रेस बनना चाहती थीं। इसके लिए वह अपना सपना पूरा करने के लिए मुंबई गईं और फिल्म थियेटर ज्वॉइन कर लिया। उनकी पहली बॉलीवु़ड डेब्यू फिल्म ‘यूं होता तो क्या होता’ थी जिसमें उनके साथ एक्टर नसीरुद्दीन शाह थे। इसके बाद उन्हें फिल्म हनीमून ट्रेवल, रूबरू, रॉक ऑन में देखा गया लेकिन वह कभी बड़ी एक्ट्रेस नहीं बन पाईं।

टिस्का चोपड़ा :- बॉलीवुड की बड़ी-बड़ी एक्ट्रेस को खूबसूरती में मात देने वाली एक्ट्रेस टिस्का चोपड़ा का फिल्मी करियर भी कुछ खास नहीं रहा। टिस्का चोपड़ा ने अपने करियर की शुरुआत साल 1993 में फिल्म प्लेटफार्म से की थी, इस फिल्म में उनके अपोजिट अजय देवगन नज़र आये थे। इसके बाद उन्होंने लोक नायक में भी काम किया। टिस्का बॉलीवुड में  काफी लंबे समय से हैं लेकिन आमिर खान की सुपरहिट फिल्म ‘तारे जमीन पर’ से उन्हें नई पहचान मिली। फिल्म में उन्होंने चाइल्ड किरदार ईशान अवस्थी की मां का रोल प्ले किया था। टिस्का की डेब्यू फिल्म ‘प्लेटफॉर्म’ थी।

लीसा रे :- लीज़ा ऐन का जन्म पेनसिल्वेनिया के ईस्टन शहर में हुआ था।  2001 में उन्होंने बॉलीवुड में फिल्म ‘कसूर’ से एंट्री ली। इसके बाद उन्होंने दीपा मेहता की फिल्म ‘वाटर’ में काम किया। उन्होंने कनाडा, यूरोप और यूएसए की फिल्मों में ही काम किया है। लिसा ने डायरेक्टर राम गोपाल वर्मा की फिल्म ‘विरप्पन’ में भी देखा गया था। लेकिन लीसा को कभी स्टारडम हासिल ना हो सका।

नंदिता दास :- बॉलीवुड की मंझी हुई एक्ट्रेस नंदिता दास ने फिल्मों में बहुत ही सटीक रोल किए हैं।फिल्म ‘फायर’ में एक्ट्रेस शबाना आजमी के साथ उन्होंने समलैंगिक संबंधों पर फोकस डाला था। लेकिन नंदिता को गिनी चुनी फिल्मों में ही देखा गया। इसके बाद वह फिर फिल्मों में नजर नहीं आईं। वह अब फिल्म निर्देशन भी करती हैं।



कल्कि कोचलिन :- कल्कि का जन्म 10 जनवरी 1984 को तमिलनाडु के ऊटी में हुआ था। कल्कि के पिता का नाम जोएल कोचलिन है। कल्कि की माँ का नाम फ्रैंकोइस अरमंडी है।  कल्कि ने अपने करियर की शुरुआत साल 2009 में फिल्म देव डी से की थी।  उन्हें इस फिल्म के लिए फिल्म फेयर बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस के अवार्ड से भी नवाजा गया।  उसके बाद उन्होंने बॉलीवुड की कई मल्टी स्टारर फिल्मों में काम किया।

माही गिल :- माही गिल का जन्म 27 नवंबर 1975 को चंडीगढ़ पंजाब में हुआ था। उन्हें हिंदी सीने जगत में आने का मौका निर्देशक अनुराग कश्यप ने फिल्म देवडी से दिया था। इसके बाद वह तिग्मांशु धूलिया की फिल्म साहेब बीवी और गैंगस्टर में नजर आयीं।  इस फिल्म में उनके अपोजिट रणदीप हुड्डा और जिमि शेरगिल सोहा अली खान नजर आयीं थी। लेकिन खूबसूरत होने के बाद भी माही का फिल्मी करियर बेहद फ्लॉप रहा।

निमरत कौर :- निम्रत कौर का जन्म 13 मार्च 1982 को पिलानी राजस्थान में हुआ था। पढ़ाई खत्म कौर मुंबई ने मुंबई जाकर मॉडलिंग करनी शुरू कर दी।  उन्होंने बतौर थिएटर आर्टिस्ट कई नाटकों में हिस्सा लिया।  कौर ने फिल्मों में अपने अभिनय की शुरआत इंग्लिश फिल्म वन नाइट विद द किंग से की थी। वह साल 2016 खिलाडी अक्षय कुमार संग फिल्म एयरलिफ्ट में उनके अपोजिट नजर आएँगी।

हुमा कुरैशी :- हुमा का जन्म 28 जुलाई 1986 को दिल्ली में हुआ था। हुमा के पिता सलीम कुरैशी दिल्ली में रेस्टोरेंट ओनर हैं। मा अनुराग की फिल्म गैंग्स ऑफ़ वासेपुर पार्ट 1   2 दोनों में ही नज़र आयीं। दोनों ही फिल्मों में हुमा को आलोचकों की बहुत अच्छी प्रतिक्रिया मिली। इसके बाद हुमा को कई फिल्मों और प्राइवेट एलबम में देखा गया। लेकिन हुमा को एक स्टाडम वाला मुकाम कभी हासिल नहीं हुआ।