इनकी वजह से टूटी थी करिश्मा-अभिषेक की सगाई, सामने आया असली विलन का नाम

0
502

कहते है जो नियति में लिखा हो उसे कोई नहीं टाल सकता, वह होकर ही रहता है. हम बॉलीवुड में अक्सर जोड़ियों को बनते बिगड़ते देखते है. लेकिन कुछ जोड़ियाँ ऐसी भी है जो बनते बनते रह गई. ऐसी ही एक जोड़ी है करिश्मा कपूर और अभिषेक बच्चन की. बात सगाई तक पहुँची पर ये सगाई शादी में नहीं बदल पाई और अभिषेक करिश्मा से सगाई तोड़ ऐश्वर्या के हो लिये. इस सगाई के टूटने के अभी तक कोई खास कारण पता नहीं चले थे लेकिन अब एक ऐसी खलनायक का नाम सामने आ रहा है जो इस रिश्ते के टूटने की सबसे बड़ी वजह थी.

करिश्मा कपूर की जब जूनियर बच्चन से सगाई हुई थी तो उनदिनों करिश्मा अपने करियर की बुलंदियों पर थी और अभिषेक ने अपने फ़िल्मी करियर की बस शुरुवात ही की थी। करिश्मा बॉलीवुड में एक जानामाना नाम थी जो किसी कपूर खानदान के टैग की मोहताज नहीं थी जबकि दूसरी तरफ अभिषेक अपने करियर के लिए स्ट्रगल कर रहे थे और उन्हें पहचान केवल अमिताभ बच्चन के बेटे के तौर पर मिल रही रही थी। करिश्मा जया बच्चन के काफी करीब थी और अभिषेक की लिए उनके दिल में प्यार था। लकिन करिश्मा की पसंद उनकी माँ बबिता को कुछ खास पसंद नहीं थी इसके वाबजूद भी करिश्मा ने माँ की एक ना सुनी और अभिषेक से सगाई कर ली।

लेकिन अभिषेक की फिल्मे एक के बाद एक फ्लॉप होती चली गई और और करिश्मा की माँ को ये डर सताने लगा की कंही अभिषेक से शादी करके करिश्मा का करियर भी ख़त्म न हो जाये.  इस वजह से बबिता ने करिश्मा पर दवाब बनाना शुरू कर दिया था की वो अभिषेक से अपनी सगाई तोड़ लें। करिश्मा ये सगाई नहीं तोडना चाहतीथी लेकिन माँ के सामने इस बार करिश्मा की नहीं चली और उन्हें सगाई तोडनी पड़ी. अगर करिश्मा की माँ नहीं इस रिश्ते में खलनायक का रोल नही निभाया होता तो अभिषेक आज ऐश्वर्या नहीं करिश्मा कपूर के साथ होते.